11 September 2012

Pin It

Bharat Ratna Deserving Cartoonist Aseem Trivedi granted bail by Bombay High Court

Bharat Ratna Deserving Cartoonist Aseem Trivedi granted bail by Bombay High Court

On Sunday Cartoonist Aseem Trivedi who is not guilty of any offence but who deserves a award of Bharat Ratna , title of SIR  and all other bravery awards was arrested on false charges Sedition and other charges.

For me Assem has not done anything wrong, now it is in the hands of Honorable Bombay High Court to hear his side and declare him not guilty.

Lawyer Sanskar Marathe filed an application in the Bombay High Court
demanding immediate release of the cartoonist saying that his detention was illegal.

The prosecution opposed Marathe's petition.
the petitioner asked for interim relief. The Judge then passed an order to release Aseem Trivedi on a personal bond of Rs 5,000.

The court said that it will order the release of Aseem Trivedi on bail if Mumbai Police failed to convey sufficient ground for his custody.



Reality views by sm –

Tuesday, September 11, 2012

Tags – Bharat Ratna Assem Trivedi

17 comments:

indianhomemaker September 11, 2012  

And now somebody else has sedition charges against them - http://t.co/kRf2Cufd
Sedition case against Thackerays, Bihar court issues arrest orders

SM September 11, 2012  

@indianhomemaker

thanks.
thanks for the link

Virendra Kumar Sharma September 11, 2012  

देश की तो अवधारणा ही खत्म कर दी है इस सरकार ने

Virendra Kumar Sharma September 11, 2012  

मंगलवार, 11 सितम्बर 2012
देश की तो अवधारणा ही खत्म कर दी है इस सरकार ने

आज भारत के लोग बहुत उत्तप्त हैं .वर्तमान सरकार ने जो स्थिति बना दी है वह अब ज्यादा दुर्गन्ध देने लगी है .इसलिए जो संविधानिक संस्थाओं को गिरा रहें हैं उन वक्रमुखियों के मुंह से देश की प्रतिष्ठा की बात अच्छी नहीं लगती .चाहे वह दिग्विजय सिंह हों या मनीष तिवारी या ब्लॉग जगत के आधा सच वाले महेंद्र श्रीवास्तव साहब .

असीम त्रिवेदी की शिकायत करने वाले ये वामपंथी वहीँ हैं जो आपातकाल में इंदिराजी का पाद सूंघते थे .और फूले नहीं समाते थे .

त्रिवेदी जी असीम ने सिर्फ अपने कार्टूनों की मार्फ़त सरकार को आइना दिखलाया है कि देखो तुमने देश की हालत आज क्या कर दी है .

अशोक की लाट में जो तीन शेर मुखरित थे वह हमारे शौर्य के प्रतीक थे .आज उन तमाम शेरों को सरकार ने भेड़ियाबना दिया है .और भेड़िया आप जानते हैं मौक़ा मिलने पर मरे हुए शिकार चट कर जाता है .शौर्य का प्रतीक नहीं हैं .
असीम त्रिवेदी ने अशोक की लाट में तीन भेड़िये दिखाके यही संकेत दिया है .

और कसाब तो संविधान क्या सारे भारत धर्मी समाज के मुंह पे मूत रहा है ये सरकार उसे फांसी देने में वोट बैंक की गिरावट महसूस करती है .
क्या सिर्फ सोनिया गांधी की जय बोलना इस देश में अब शौर्य का प्रतीक रह गया है .ये कोंग्रेसी इसके अलावा और क्या करते हैं ?

क्या रह गई आज देश की अवधारणा ?चीनी रक्षा मंत्री जब भारत आये उन्होंने अमर जवान ज्योति पे जाने से मना कर दिया .देश में स्वाभिमान होता ,उन्हें वापस भेज देता .
बात साफ है आज नेताओं का आचरण टॉयलिट से भी गंदा है .
टॉयलट तो फिर भी साफ़ कर लिया जाएगा .असीम त्रिवेदी ने कसाब को अपने कार्टून में संविधान के मुंह पे मूतता हुआ दिखाया है उसे नेताओं के मुंह पे मूतता हुआ दिखाना चाहिए था .ये उसकी गरिमा थी उसने ऐसा नहीं किया .
सरकार किस किसको रोकेगी .आज पूरा भारत धर्मी समाज असीम त्रिवेदी के साथ खड़ा है ,देश में विदेश में ,असीम त्रिवेदी भारतीय विचार से जुड़ें हैं .और भारतीय विचार के कार्टून इन वक्र मुखी रक्त रंगी लेफ्टियों को रास नहीं आते इसलिए उसकी शिकायत कर दी .इस देश की भयभीत पुलिस ने उसे गिरिफ्तार कर लिया .श्रीमान न्यायालय ने उसे पुलिस रिमांड पे भेज दिया .


Posted

Destination Infinity September 11, 2012  

Because of this episode, the Govt. made the cartoonist, a national hero! We should congratulate the Govt. for this service.

MEcoy September 12, 2012  

i voted yes just like 66% others i ithink its the right decision

Anonymous,  September 12, 2012  

this is good step taken by govt ...this is insult of our country ..insulting our parliament .is they insult idol of god.....noway......our consitiution
is like gita as we follow it we must respect our parliament .it is not good sign of patriotism ...............

Thakurduyn November 30, 2012  

i voted yes just like 66% others i ithink its the right decision